ब्रिटेन चुनाव परिणाम:थेरेसा मे की पार्टी को सबसे अधिक सीटें, पर बहुमत से दूर

0
106

ब्रिटेन की मौजूदा प्रधानमंत्री थेरेसा मे और विपक्षी नेता जेर्मी कोर्बिन में से किसी एक के हाथ में देश की कमान सौंपने का फैसला करने के लिए ब्रिटेन में गुरुवार को कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान हुआ।

650 सीटों के लिए हुए मतदान के बाद जारी मतगणना में 649 सीटों के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। मे की कंजर्वेटिव पार्टी को 318 और लेबर पार्टी को 261 सीटों पर जीत मिली है। स्कॉटलैंड नेशनल पार्टी को 35 सीटें मिली हैं।

37,780 मतों से जीतीं टेरेसा, बोलीं- देश को स्थिरता की आवश्यकता  
टेरेसा मे ने दक्षिण—पूर्व इंग्लैंड की अपनी मैडनहेड सीट पर 37,780 मतों से जीत हासिल की है।

टेरेसा ने अपनी सीट पर जीत हासिल करने के बाद अपने भाषण में कहा, इस समय, देश को स्थिरता की आवश्यकता है। कंजर्वेटिव पार्टी सबसे अधिक मत हासिल करने की राह पर है और स्थिरता मुहैया कराना हमारा कर्तव्य है।

उन्होंने कहा, मेरा संकल्प वही है जो हमेशा से था। नतीजे कुछ भी हो, कंजर्वेटिव पार्टी स्थिरता की पार्टी बनी रहेगी।

जीत के बाद बोले कार्बिन, उनकी पार्टी के लिए बनाएं राह 
विपक्षी लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कोर्बिन ने भी लंदन की इस्लिंगटन नॉर्थ सीट पर 40,086 मत हासिल करके शानदार जीत हासिल की। इस जीत को अदभुत करार देते हुए उन्होंने टेरेसा मे को जाने और उनकी पार्टी के लिए राह बनाने को कहा।

मतदान ब्रिटेन के समयानुसार रात 10 बजे और भारतीय समयानुसार देर रात दो बजकर 30 मिनट पर समाप्त हुआ। इसके बाद वोटों की गिनती शुरू की गई। मतदान के तुरंत बाद सामने आए एक्जिट पोल से संकेत मिले कि ब्रिटेन में कोई भी पार्टी बहुमत हासिल नहीं कर पाएगी। एक्जिट पोल में अनुमान लगाया गया है कि कंजर्वेटिव 314 सीटों और लेबर 266 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है।

बहुमत से दूर रह सकती हैं टेरेसा मे

रायटर के मुताबिक, प्रधानमंत्री मे बहुमत से दूर रह सकती हैं। एक्जिट पोल के अनुसार मे की कंजर्वेटिव पार्टी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर सकती है, लेकिन उसे स्पष्ट बहुमत मिलने की संभावना नहीं है। संसद त्रिशंकु हो सकती है।

एक्जिट पोल के अनुसार प्रधानमंत्री, मे की पार्टी ब्रिटेन की 650 सदस्यीय संसद में 314 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है। इस स्थिति में पार्टी  को बहुमत के लिए 17 सीटों की कमी होगी।

गौरतलब है कि स्पष्ट बहुमत के लिए किसी भी पार्टी को 326 सीटों की जरूरत है। लेबर पार्टी को 266 सीटें मिल सकती हैं और इस स्थिति में वह वर्ष 2015 के चुनाव के मुकाबले 34 सीटों की बढ़त की स्थिति में नजर आ रही है।

हाल ही में आतंकवादी हमलों का शिकार हुए ब्रिटेन में चार करोड़ से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। ब्रिटेन की राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधक पुलिस के मुख्यालय के प्रवक्ता ने कहा कि स्थानीय पुलिस बल मतदान केंद्रों के आसपास की सुरक्षा की लगातार समीक्षा करते रहे। हाल ही में हुए दो आतंकी हमलों के बाद चुनाव के दौरान मतदान केंद्रों के आसपास बड़ी संख्या में पुलिसबल देखा गया। चुनाव पूर्व सर्वे ब्रिटिश प्रधानमंत्री को उनके मौजूदा पद पर बनाए रखने के पक्ष में दिखाई दिया था।

गौरतलब है कि मे ने 52 दिन पहले मध्यावधि चुनावों का आह्वान किया था। 60 साल की मे ने निर्धारित समय से तीन साल पहले ही चुनावों की घोषणा कर दी थी। उन्होंने 28 सदस्यों वाले यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के निकलने से जुड़ी पेचीदा बातचीत से पहले ही इन चुनावों को संपन्न करवा लिया है।

तीन साल में ब्रिटेन के इस चौथे बड़े चुनाव में 4.6 करोड़ मतदाता थे।  इनमें से 15 लाख मतदाता भारतीय मूल के थे। इससे पहले वर्ष 2014 में स्कॉटलैंड की स्वतंत्रता के लिए जनमत संग्रह हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here